गिर गाय का शुद्ध घी
(बिलोया एवं मक्खन से तपाया हुआ)

||| क्षीरघृतभ्यासो रसायनानाम श्रेष्ठतमम |||

गिर गाय का शुद्ध घी – बिलोया हुआ एवं मक्खन से तपाया हुआ, जो पुर्णतया वैदिक पद्धति से बनाया जाता है. यह शरीर में औषधि की तरह कार्य कर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला एवं अनेक बीमारियों से निजात पाने में सहायक है. जैसे:

  1. वजन कम करने एवं बढ़ाने में
  2. गैस-कब्ज़-असिडीटीटी
  3. घुटने-कमर-गर्दन-जोड़ो का दर्द
  4. गठिया रोग
  5. एलर्जी
  6. सर्दी-खासी-जुकाम-बुख़ार
  7. बालो का झड़ना
  8. ह्रदय सम्बन्धी समस्या
  9. शारीरिक कमजोरी
  10. यौन सम्बन्धी रोग
  1. त्वचा सम्बन्धी समस्याएं
  2. PCOD/PCOS
  3. पैरो व तलवो में जलन
  4. तनाव, अनिंद्रा
  5. नवजात शिशुओं के लिए
  6. अल्सर में उपयोगी
  7. नेत्र समस्याएं
  8. माइग्रेन
  9. शरीर शुद्धिकरण
  10. कैंसर

स्म्रुतिबुध्यग्निशुक्रोज: कफमेदोविवर्धनम,

वातपितविषोंन्मादशोषालक्ष्मीज्वारापहम ! ” –Charak

नवजात शिशुओं के विकास के लिए अत्यंत लाभदायी:
  • बच्चों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढाये
  • बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास को बढाये
  • बच्चों के त्वचा एवं बालों को सही पोषण पहुचाये
Why Kalp Naturo Gir Gau Ghee?

Currently most of the companies are making Ghee through cream and different categories of cows. They use preservatives andchemicals. They collect milk from multiple sources without any quality check. Some people use hormone injections to increase milk capacity of cows which could result in serious health issues. If cows are not kept and fed properly, they eat garbage, polyethene/plastic and from waste, it is also very essential that cows should have access to good drinking water.

Above all cows should be treated very well emotionally as well. Cows always have been treated as family member in Indian culture and researchers have found that it could be a reason of great medicinal effect is there in Indian cows compare to cows of any other country.

Pure and high-quality milk is very essential for best quality ghee.

Desi (Gir) Cow:

For Kalp Naturo Ghee, we use high quality and pure milk of Indian Gir cows only.

Grass Fed:

We make sure that our cows get best quality of organic food. We also take care of their seasonal food requirements, so they get complete nourishment.

Cruelty Free:

We have kept our cows in very suitable environment to make sure they that they are having a good and stress-free life. They are treated like our family members. It is our prime focus that their calves are getting sufficient milk first and then only they are milking for other purpose.

Traditional Method:

We use most traditional method “Bilona” for processing of Ghee.It helps in getting proper balance of fatty acids in our Organic Ghee. This ghee is also known as “Bilonaand TapayaGhee”.

A2 Milk:

We use A2-milk which contains pure A2-protein. Ghee received from this method is very easy to digest and reaches affected body part(s).

Ayurvedic:

In Ayrveda, this kind of Ghee has several medicinal benefits.

 

Our Mission:
At Kalp Naturo, we are committed to provide this original and pure Gir Cow Ghee.

Why this Ghee is expensive than other types of Ghee?

बाकी कंपनी फेंट कर घी बनाती है, और बचा हुआ दूध पूरी कीमत पर बेचती है, इसलिये घी का पैसा पूरा अतिरिक्त मिलता है और वे निम्न स्तर का घी सस्ते में बेच पाते है।
किन्तु इस प्रकार का घी Fat, Diabetes, Cholesterol जैसे बीमरियो का कारण बन सकता है।

घी बनाने की सही विधि क्या है?

  • दूध को तपाना: अग्नि संस्कार (Killing harmful elements)
  • दही जमाना: मुरण संस्कार (Developing good bacteria)
  • मंथना: जिस से मक्खन बनता है (Churning process)
  • तपाना: फिर इसे तपाके घी बनता है।

देशी गौ के दही से बने हुये घी की तुलना अमृत से की गयी है।

शुद्ध घी की जांच कैसे कर सकते है?

यह शरीर तापमान परतरल(liquid)अवस्था मेंरहता है। जिससे प्रभावित अंगतक सीधे पहुँचता है। जैसे घुटने, जोड़ो में, त्वचा में इत्यादि।

यह harmful fat, cholesterol नही बढ़ाता है।

बाकी दूध को जोर से मशीनमे घुमा के, Fatअलग निकाला जाता है। वो गर्म कर के घी जैसे तरल का निर्माण करता है। जो किनि:संदेहबीमरियो को आमंत्रण है।

यह घी महंगा बिलकुल नही है, वस्तू की उपयोग से निर्धारित होता है कि कीमत क्या होगी।
Difference-new2
× Live Chat